ध्यान करना सीखें

श्री श्री परमहंस योगानन्द ने तीस वर्ष की अवधि में क्रियायोग ध्यान के विज्ञान का अभ्यास कैसे करें पर जो व्यक्तिगत निर्देश दिए थे उन्हें योगदा सत्संग पाठमाला के रूप में संकलित किया गया है।

इस के अतरिक्त, इन पाठों में संतुलित शारीरिक, मानसिक एवं आध्यात्मिक स्वस्थता हेतु उन का व्यवहारिक ज्ञान और विधियां हैं — योगप्रदत्त जीवन के प्रत्येक पक्ष पर स्वास्थ्य, रोगनिवारण, सफलता, एवं सामंजस्य हेतु। “जीवन जीने की कला” के यह सिद्धांत किसी भी उचित ध्यान के अभ्यास का नितांत आवश्यक भाग हैं।

यदि आपने अभी तक पाठमाला के लिए पंजीकरण नहीं कराया है, तो आप इन पृष्ठों पर ध्यान करने की विधि के बारे में कुछ मूलभूत निर्देश पा सकते हैं, जिनके उपयोग से आप तुरंत उस दिव्य के साथ ध्यानजनित शांति और सहानुभूति का अनुभव करना आरंभ कर सकते हैं।

ध्यान करने विधि के बारे में अधिक जानकारी

वीडियो चलाएं

उचित आसन

वीडियो चलाएं

Focused Attention

वीडियो चलाएं

ध्यान के अभ्यास का आरंभ

वीडियो चलाएं

प्रार्थना एवं प्रतिज्ञापन

वीडियो चलाएं

ध्यान के लाभ

ध्यान को गहरा करने के तरीके

शेयर करें

Collections

Author

Language

More