गुरु पूर्णिमा

बुधवार, 13 जुलाई, 2022

सुबह 6:30

– 8:30 बजे तक

(भारतीय समयानुसार)

कार्यक्रम के विवरण

एक सद्गुरु जो मात्र ईश्वर की ही आराधना करते हैं और अपने शरीर एवं मन के मन्दिर में नित्य उनका ही बोध करते हैं, वे शिष्य की भक्ति को केवल इसलिए स्वीकार करते हैं कि वे इसे ईश्वर को अर्पित कर सकें।

— परमहंस योगानन्द

गुरु पूर्णिमा – जो इस साल 13 जुलाई को मनाया गया था – पारंपरिक रूप से गुरु को सम्मानित करने के लिए समर्पित है। इस विशेष दिवस पर हमारे गुरुदेव श्री श्री परमहंस योगानन्दजी के प्रति कृतज्ञता अर्पित करने के लिए योगदा सत्संग सोसाइटी ऑफ़ इण्डिया (वाईएसएस) द्वारा एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

वाईएसएस संन्यासी द्वारा संचालित इस कार्यक्रम में सामूहिक ध्यान, भक्तिमय चैंटिंग और एक प्रवचन शामिल थे।

para-ornament

यदि आप इस पावन अवसर पर प्रणामी देना चाहें तो कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

नवागंतुक

परमहंस योगानन्दजी और उनकी शिक्षाओं के बारे में और अधिक जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक्स पर जाएँ:

शेयर करें